वंदन की धरती,अभिनंदन की धरती,
तपस्या और बलिदान की धरती,
संस्कृति और सम्मान की धरती,
गंगा यमुना सरस्वती माओं की धरती,
आज़ाद की धरती, अमिताभ की धरती,
प्रयाग है संत सनातन की धरती,
प्रयागराज में आपका स्वागत है।

मैं तीर्थों का राजा, यज्ञ का आगाज़ हूँ।
इलाहाबाद नहीं, अब मैं प्रयागराज हूँ।

अपने सुझाव हमे जरूर ईमेल करें

प्रयागराज सम्बंधित कोई भी जानकारी देने के लिए या हमे कोई सुझाव देने के लिए हमे जरूर संपर्क करें।